फ्लैट बेली डायट वजन कम करने का है कारगर उपाय

By  , विशेषज्ञ लेख
Jan 01, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • हर रोज 1600 कैलोरी का सेवन होता है इस आहार योजना में। 
  • चार-चार सौ ग्राम के चार आहार होते हैं दिन भर में।
  • चर्बी कम करने के लिए मुफा होता है आहार का अहम हिस्‍सा।
  • शरीर के वजन को नियंत्रित करने में मददगार होती है यह योजना।

वह दौर अब गया अब गया जब, बढ़े हुए पेट को खाते-पीते घर की निशानी माना जाता था। अब, बढ़ा हुआ पेट आलस्‍य की पहचान और बीमारी का घर माना जाता है। जिन लोगों का पेट किसी कारण से बढ़ चुका है, उनकी कोशिश उससे छुटकारा पाने की होती है।

flat tummy diet'फ्लैट टमी डायट' की शुरुआत लिज वेकेरिलो और सिंथिया सास द्वारा शुरू की गयी थी। इस आहार योजना के त‍हत आप 15 दिनों में 32 पाउंड यानी करीब साढ़े 14 किलो वजन कम कर सकते हैं। अपनी किताब में इन दोनों ने वजन कम करने को केवल आहार और व्‍यवहार पर निर्भर बताया है। यह आहार योजना विशेषकर उन लोगों को ध्‍यान में रखकर तैयार की गयी हैं, जो अपनी कमर से कुछ इंच चर्बी कम करने के इच्‍छुक हैं।  


इस आहार योजना में पौष्टिक और अपरिष्‍कृत आहार खाने की सलाह दी जाती है। इसमें सब्जियां, साबुत अनाज, नट्स, बीन्‍स, बीज, पतला प्रोटीन और काफी कम मात्रा में रेड मीट (महीने में केवल एक बार) खाने की सलाह दी जाती है। लेखकों ने मोनोसेचुरेटेड फैट अथवा मुफा को अपने आहार का हिस्‍सा बनाने पर जोर दिया है। इससे आपको अपनी चर्बी कम करने में काफी मदद मिलती है। ऑलिव, अवाकाडो, नट्स, बीज, डार्क चॉकलेट, सोयाबीन, फ्लैक्‍स और ऑलिव अथवा सूरजमुखी का तेल, मुफा से भरपूर होते हैं। इसके साथ ही मुफा भूख को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है।

इस आहार योजना को शुरू करने से पहले आपको कम से कम चार दिनों तक 1200 से 1400 कैलोरी प्रतिदिन की आहार योजना पर चलना होता है। इससे शरीर के लिए अगली आहार योजना को अपना पाना आसान हो जाता है। यह आहार योजना सूजन को कम करने और एक पौष्टिक आहार योजना को फॉलो करने में मदद करती है। इसके लिए आपको रोजाना दो लीटर पानी पीना होता है। इस पानी में मसाले, औषधियां, नींबू और खीरा आदि होता है। लेखकों का कहना है कि फ्लैट टमी डायट, सूजन और कब्‍ज से निजात दिलाता है, जिससे आप बेहतर और एक्टिव फील करते हैं। हां, बेहतर परिणाम पाने के लिए आप व्‍यायाम भी कर सकते हैं।


फ्लैट बेली आहार योजना: आप क्‍या खा सकते हैं

इस आहार योजना में आप दिनभर में 400 कैलोरी के चार भोजन खाएंगे। हर आहार में मुफा भरपूर मात्रा में होगा। क्‍योंकि आपके पास आहार लिस्‍ट है और इसमें प्रोटीन का साइज तय है, इसलिए आपको कैलोरी की फिक्र करने की जरूरत नहीं है। आप 28 आहारों में से अपने लिए नाश्‍ते, लंच और डिनर और स्‍नैक्‍स चुन सकते हैं। अपनी पसंद के हिसाब से इन्‍हें आपस में बदल भी सकते हैं। इन आहारों को कैलोरी और पौष्टिक तत्‍वों के आधार पर बांटा गया है। इनमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, वसा, संतृप्‍त वसा, कोलेस्‍ट्रोल, सोडियम और फाइबर पौषक तत्‍वों की संतुलित मात्रा होती है।


फ्लैट बैली डायट : यह कैसे काम करती है

फ्लैट बैली डायट किताब में वर्णित आहार योजना के अनुसार आपको रोजाना 1600 कैलोरी का उपभोग करना चाहिए और आपके हर आहार में मुफा प्रचुर मात्रा में होना चाहिए। हर चार घंटे में भोजन और नियमित व्‍यायाम (हालांकि व्‍यायाम जरूरी नहीं है) आखिरकार आपको अपना वजन कम करने में काफी मदद करेगा।

विशेषज्ञों के अनुसार फ्लेट बैली डायट से आपका वजन मुफा के कारण नहीं होता, बल्कि यह आपके पूरे शरीर के वजन कम होने का हिस्‍सा है। जब कभी भी आपका वजन कम होता है, तो आप शरीर के मध्‍यम हिस्‍से से वजन कम करते हैं, भले ही आप किसी भी आहार योजना का पालन कर रहे हों। इस प्रकार की आहार योजना उन लोगों के लिए काफी फायदेमंद है, जो अपने भोजन को लेकर अन‍ियमित होते हैं और अक्‍सर अपना भोजन समय पर नहीं खाते। इनमें नाश्‍ता न करने वाले लोग भी शामिल होते हैं।

जानकार यह भी मानते हैं कि वजन कम करना बहुत जरूरी है। अतिरिक्‍त चर्बी आपको हृदय रोग होने का खतरा काफी अधिक होता है। न केवल पेट पर जमा चर्बी, बल्कि शरीर में कहीं भी जमा अतिरिक्‍त चर्बी आपको गंभीर रोग दे सकती है। कई जानकार यह नहीं मानते कि मुफा आपको वजन कम करने में मदद करता है। उनके अनुसार, 'फ्लैट बेली डायट' का अनुसरण करने वाले लोगों के पेट से चर्बी उनके पूरे शरीर से कम हो रही वसा का ही हिस्‍सा होता है।

लिज वेकेरिलो और सिंथिया सास की लिखी इस किताब की कई सलाह पर जानकार सवाल उठाते हैं। उनकी नजर में जंप स्‍टार्ट प्‍लान का संबंध तनाव, च्‍युंइगम चबाना, भारी-भरकम कच्‍चे आहार का सेवन और मुफा से वजन कम होना जैसी बातें सवालों के घेरे में हैं। इस किताब में दी गयीं कई सलाह के पीछे कोई भी वैज्ञानिक प्रमाण नहीं है। हालांकि, अपने आहार में पौष्टिक तत्‍वों को शामिल करने की बात कहना जरूर व्‍यावहारिक लगता है।

आहार योजना में शामिल कई खाद्य पदार्थ उच्‍च कैलोरी युक्‍त हैं, तो इसलिए आपको इस बात का खयाल रखना जरूरी है कि आप कितना खा रहे हैं। ऐसा भी हो सकता है कि आपको इस बात का अंदाजा ही न रहे कि आप आवश्‍यकता से अधिक कैलोरी का सेवन कर रहे हैं।

 

 

 

Read More Articles On Weight Loss Foods in Hindi


Write a Review
Is it Helpful Article?YES402 Votes 41019 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर