प्रेम और सेक्स वर्जिनिटी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

अपने दिमाग में गंभीर लक्ष्य तय करके आप डेटिंग सर्किल में किसी खास की खोज करते हैं। आप किसी ऐसे मन के मीत को पाना चाहते हैं जो कुछ खास हो, जिसके प्यार में सिर से पैर तक डूबा जा सके, जिससे दिल का मधुर सम्बन्ध बन सके और हर तरफ प्यार की जगमगाती रोशनियों जैसा अहसास हो। लेकिन जनाब यह हमेशा व्यावहारिक नहीं होता और आसान भी नहीं होता।

 

जब आप लम्बे समय तक चलने वाला सम्बन्ध चाहते हों

 

प्यार एक पौधे जैसा होता है जिसे पनपने के लिए समय और सही खाद-पानी के पोषण की जरूरत होती है। यदि आप डेटिंग पर हैं तो जरा ठहर कर मन को शांति दें और किसी बिल्कुल पहले या अचानक मिलने वाले किसी  व्यक्ति से जल्दबाजी में सम्बन्ध मत बनाएं। आप अनेक बार डेटस पर जा सकते हैं, यह जानने के लिए कि कौन सा व्यक्ति  'ठीक' आपके लिए बना है। कभी भी यह सोचकर प्यार में समझौता मत करें कि आपकी उम्र निकली जा रही है या आप युवा हैं और आपकी हमजोली के हर शख्स का कोई न कोई पार्टनर है। यदि आप लम्बी अवधि का सम्बन्ध बनाना चाहते हैं तो आपके पास अपनी ज़रूरतों और सम्बन्ध की प्रकृति के बारे में कुछ तयशुदा विचार ज़रूर होने चाहिए जैसे आप किस तरह के सम्बन्ध की खोज कर रहे हैं। शादी, परिवार और रूपए-पैसे के मामलों में समान विचार होना महत्वपूर्ण है। अब इन बेहद जिम्मेदाराना मसलों के बारे में किसी व्यक्ति का रवैया आपको चंद मुलाकातों में ही पता नहीं चल सकता। इसलिए सम्बन्ध को विकसित होने का समय दें क्योंकि इससे न केवल प्यार का अहसास बढ़ेगा जो सम्बन्ध को अधिक प्रगाढ़ बनाएगा बल्कि समान मूल्यों और विचारों वाला साथी भी मिलेगा।

 

पहली बार का सेक्स

 

पहली बार का सेक्स प्राय: हड़बड़ी में तथा कुछ स्पेशल होता है। सेक्स का मतलब अनेक लोगों के लिए अनेक प्रकार से अलग-अलग होता है। इस विषय पर हर कोई अपने ढंग से सोचता है। कुछ के लिए यह बहुत खास है तो दूसरों के लिए यह खुद को बेहतर जानने का केवल एक तरीका हो सकता है। यह पूरी तरह से हर किसी की भावनाओं पर आधारित है लेकिन सेक्स को लेकर कुछ विचार निश्चित ही मदद कर सकते हैं। सही साथी मिलने तक सेक्स‍ करने से बचे रहकर आप अपना दिल टूटने से भी बचा सकते हैं और स्वास्थ्य समस्याओं से भी बच सकते हैं।

 

किशोरों (टीनएजर्स) में कौमार्य भंग की समस्या

 

किशोरावस्था  में कौमार्य भंग साथियों के दबाव में हो सकता है जिसमें न केवल आपकी भावनाओं से खिलवाड़ का खतरा रहता है

 

बल्कि आप लैंगिक सम्पर्क से प्रसारित होने वाली बीमारियों की चपेट में भी आ सकते हैं और अनचाहे गर्भ का खतरा भी रहता है। ऐसे जोखिम दूर रखने और बेहतर मानसिक तथा शारीरिक विकास के लिए युवाओं में सुरक्षित सेक्स  के प्रति जागरूकता बहुत ज़रूरी है।


सेक्स कभी हड़बड़ी में न करें

 

सेक्स कभी जल्दबाजी में नहीं किया जाना चाहिए फिर आपकी उम्र चाहे जो हो, सम्बन्ध को प्रगाढ़ होने और घनिष्ठिता को आनंददायक बनने के लिए वक्त दिया जाना चाहिए। हालांकि शारीरिक सम्बन्ध पूरी तरह से व्यक्ति के अपने नज़रिए पर निर्भर है और इस पर कि आप किस प्रकार की डेट चाहते हैं? आप भावनाओं में ऐसा कर सकते हैं लेकिन इसे हमेशा सुरक्षित तरीके से ही करें।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES25 Votes 50327 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर