दो आंखों को तीन से ज्यादा नहीं दिखता

By  ,  दैनिक जागरण
Jan 04, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी की खोज से पता चला

 

इससे मल्टीटास्किंग की गुत्थियों को सुलझाने में मदद मिलेगी

 

सामने दुनिया का सबसे खूबसूरत नजारा हो या फिर कोई बदसूरत दृश्य, अपनी दो आंखों से आप घूमती हुई कितनी चीजें देख सकते हैं। आप कहेंगे कई, लेकिन यह हकीकत नहीं है। कहने को भले ही नजरें सारा जहां दिखा रही हों, आपका दिमाग एक साथ तीन से ज्यादा चलती हुई चीजों पर ध्यान नहीं दे पाता।

 

इस खोज से सड़कों की डिजाइन, सड़क सुरक्षा योजना, ड्राइवरों एवं पायलटों की ट्रेनिंग और फास्ट स्पो‌र्ट्स के क्षेत्रों पर दूरगामी असर पड़ेगा। इससे मल्टीटास्किंग की गुत्थियों को भी सुलझाने में मदद मिलेगी। इस शोध दल का नेतृत्व कह रहे ऑस्ट्रेलियन नेशनल यूनिवर्सिटी के डॉ. मार्क एडव‌र्ड्स कहते हैं, 'कहा जाता है कि जो लोग मल्टीटास्किंग में माहिर होते हैं, वह एक साथ कई चीजों को प्रोसेस कर लेते हैं, लेकिन सच्चाई यह है कि ऐसे लोग एक काम करने के बाद दूसरे लक्ष्य पर दूसरों से ज्यादा जल्दी ध्यान दे पाते हैं।'

 

इस शोध के तहत वैज्ञानिकों ने लोगों को बिंदुओं के समूहों को अलग-अलग दिशाओं में एक गति से घूमते हुए दिखाया। पाया गया कि भिन्न-भिन्न दिशाओं में घूमते दो बिंदू समूह ही दिखे। बिंदू समूहों की गति में फर्क करने पर अधिकतम तीन बिंदू समूह दिखाई दिए। गति को ज्यादा बढ़ाने पर सब कुछ धुंधला दिखाई देने लगा।

 

इस प्रक्रिया को रोजमर्रा के उदाहरण से आसानी से समझा जा सकता है। जब आप गोलचक्कर पर होते हैं, तो आपको वैसे तो कई दिशाओं से आते-जाते कई वाहन दिखते हैं, लेकिन एक समय में उनमें से तीन से ज्यादा पर नजर नहीं रखी जा सकती। आपका दिमाग पहले दाईं ओर से आते वाहन को देखेगा, उसके बाद गोलचक्कर पर नजर जाएगी और फिर बाईं ओर ध्यान जाएगा।


Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES10808 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर