टोक्सोप्लास्मोसिस का निदान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 01, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

आपका डॉक्टर आपसे आपके चिकित्सक इतिहास के बारे में पूच्सगा ताकि यह पता चल सके की आपको कोई चिकित्सयी समस्या तो नहीं है जो की आपके शरीर के प्रतिरक्षा तंत्र को कम कर रहा हो टोक्सोप्लास्मोसिस के विरूद्ध जिसमे आते हीं एचाईवी या एड्स , कैंसर या एक अनुवांशिक प्रतिराख्सा तंत्र में कमी या एक अंग का प्रतिरोपण। साथ  ही आपका डॉक्टर आपके हांल  ही में चलने वाली दवा को देखेगा ताकि कोई दवा मिल सके जो की आपके प्रतिरक्षा तंत्र को दबा या क्षति पहुंचा रहा हो जिए की उपत टोक्सोप्लास्म पर्जीची फिर से क्रियाशील हो जाए ।आप्की डॉक्टर आपसे यह भी पूछेगा आपके बिल्लोई के संपर्क में आने के बारे में विशेषकर बहारी बिउल्ली जो की छोटे शिकार को मारती और खाती है ।खाने से सम्बन्धित टोक्सोप्लास्मोसिस के जोखिम के मूलान्कं के लिए आपका डॉक्टर आपसे पूछेगा की कहीं आपने कच्चा या बहुत दुर्लभ मांस टी नहीं खाया है ।

 

अगर आपमें टोक्सोप्लास्मोसिस के लक्षण हो रहे हैं तो आपका डॉक्टर आपकी बड़ी हुई लसीका ग्रंथि की जांच करेगा (सूजी हुई ग्रंथि) दिमाग के सम्मिलित होने के या आँख में क्षति के ।निदान को पक्का करने के लिए आपका डॉक्टर आपको रक्त की जांच करवाने के लिएय कहेगा ताकि प्रतिराख्सा पदार्थ की जांच हो सके (रख्सात्मक प्रोटीन जो की प्रतिराख्सा तंत्र के डावर बनाए गए हैं) तोक्सोप्लास्मा परजीवी के विरूद्ध ।कुछ प्रतिरक्षा पदार्थ के रक्त में स्तर के हिउसाब से आपका डॉक्टर आपको यह बता सकता है की आपमें क्रियाशील टोक्सोप्लास्मोसिस है या भूत में आपको टोक्सोप्लास्मोसिस का प्रसंग हुआ होगा ।ज्यादातर स्वाथ्य लोग पहले हुए प्रसंह को याद नहीं रखते हैं क्योंकि उनमे से ९० % के को इलेक्शन नहीं होते है ।अगर आपमें एक्यूट टोक्सोप्लास्मोसिस के लक्षण हो रहे हैं तो निदान तोल्सोप्लास्मा परजीवी की पहचान करके की जा सकती है आपके रक्त या शारीरिक द्रव्य या संक्रमित ऊतक का परिक्षण करके ।अगर आपके डॉक्टर को शक हैं की आपको टोक्सोप्लास्मोसिस है जो की आपके दिम्म्ग को संक्रमित कर रहा है टी वह कम्प्युतेद टोमोग्राफी स्कैन या आपके सर का मेगनेटिक रेसोनंस इमेजिंग (एमाराई) करवाएगा ताकि एन्सेफेलाइटिस के साबूत को जांचा जा सके ।

 

जन्मजात टोक्सोप्लास्मोसिस का निदान जन्म से पहले एक अल्त्रासौन्द या एक प्रक्रिया जिसे अमिनोसेंतेसिस कहते हैं उसके द्वारा कलिया जा सकता अहि । जन्म के बाद नवजात में आप निम्न जांच करवा सकते हैं : आँख का परिक्षण, तंत्रिका तंत्र परिक्षण, सर का सीटी स्कैन और सेरेब्रोस्पय्न्ल द्रव्य जो की लुम्बार पंचर करके निकाला गया हो उसकी प्रयोगशाला में जांच ।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES10757 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर