ज्यादा कार्बोहाइड्रेट्स कोई समस्या नहीं

By  ,  दैनिक जागरण
Jul 13, 2010
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

स्टार्च और चीनी की अधिक मात्रा लेने वाले लोग अधिक स्वस्थ और पतले होते हैं

 

न्यूयार्क, प्रेट्र : लाखों लोगों के लिए यह खुशखबरी से कम नहीं कि खाने में कार्बोहाइड्रेट की अधिक मात्रा स्वास्थ्य के लिए हानिकारक नहीं, जैसा कि अभी तक माना जाता रहा है। अमेरिका की वर्जीनिया यूनिवर्सिटी के शोधार्थियों के मुताबिक जो लोग खाने में स्टार्च और चीनी की अधिक मात्रा लेते हैं वे अधिक स्वस्थ और पतले होते हैं। यह मत पौष्टिक भोजन के आधुनिक मापदंडों के बिल्कुल विपरीत है।
रिसर्च टीम के प्रमुख प्रोफेसर ग्लेन गैसेर ने बताया कि कार्बोहाइड्रेट्स से मोटापे का खतरा बिल्कुल भी नहीं। बल्कि वास्तविकता ठीक इसके ठीक उलट है। तो खाने में अधिक हाइड्रोकार्बन वाले भोजन से परहेज की कोई जरूरत नहीं। अभी तक यह माना जाता था कि रोटी, केक और आलू (अधिक कार्बोहाइड्रेट्स वाले खाद्य पदार्थ) से मोटापे और सुस्ती का खतरा होता है। लेकिन प्रोफेसर गैसेर के मुताबिक कार्बोहाइड्रेट न खाने की सनक मूर्खता है। एक संतुलित आहार में कार्बोहाइड्रेट्स बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखता है। इसमें फाइबर, विटामिन, मिनरल्स (खनिज) और एंटी आक्सीडेंट काफी मात्रा में पाए जाते हैं। यह शरीर के लिए बेहद आवश्यक हैं। उन्होंने बताया कि कार्बोहाइड्रेट से परहेज करने वाले लोग बदले में ज्यादा चर्बीयुक्त भोजन लेने लगते हैं। शोधकर्ताओं ने अध्ययन के दौरान हजारों पुरुषों, महिलाओं के खाने की प्रवृत्ति व उनके स्वास्थ्य पर दर्जनों शोध किए। उन्होंने पाया कि अधिक हाइड्रोकार्बन खाने वाले लोगों का वजन ज्यादा नहीं था। शोधार्थियों ने पाया कि जो लोग अपनी डाइट में कार्बोहाइड्रेट की पर्याप्त मात्रा लेते हैं वे सीमित मात्रा में कार्बोहाइड्रेट खाने वाले लोगों के मुकाबले न सिर्फ अधिक स्वस्थ होते हैं बल्कि उनका वजन भी काबू में रहता है। जर्नल आफ द अमेरिकन डायेटिक एसोसिएशन में छपे इस शोध में कहा गया है कि मोटापे और सुस्ती से बचना है तो फाइबर युक्त भोजन, नियमित व्यायाम और चर्बीदार भोजन से परहेज करना होगा।

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 11275 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर