गर्भावस्था के दौरान अपने डायट चार्ट में जरूरी पोषक तत्‍वों को करें शामिल

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
May 18, 2011
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • गर्भवती होने के बाद नियमित व्‍यायाम अवश्‍य करें, इससे फिटनेस बनी रहती है।
  • प्रेग्‍नेंट महिला को गर्भधारण के बाद 300 अतिरिक्‍त कैलोरी की होती है जरूरत।
  • अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन, आयर, कैल्शियम आदि जरूर शामिल कीजिए।
  • ज्‍यादा भार न उठायें, ज्‍यादा काम करने से बचें और भरपूर आराम जरूर करें।

गर्भावस्था का समय महिलाओं के लिए आम तौर पर मिले-जुले अनुभव लेकर आता है, कभी उन्हें आने वाले शिशु की चिंता सताती है। इस दौरान आपको होने वाले बच्‍चे का भी ध्‍यान रखना पड़ता है। यदि आपने खान-पान या नियमित होने वाली जांच में अनियमितता बरती तो यह आप और बच्‍चे दोनों के लिए नुकसानदेह हो सकता है।

precautions during pregnancyतो कभी यह अनुभव उनके लिए सुखदायी होता है। चिकित्सकों के परामर्श अनुसार महिलाएं आजकल आराम पर भी ध्यान देती हैं, लेकिन व्यायाम पर ध्यान नहीं देतीं। स्वस्थ व सुरक्षित गर्भावस्था में व्यायाम भी उतना ही आवश्यखक है, जितनी दूसरी बातें। आइए हम आपको उचित और अनुचित के बारे में जानकारी दे रहे हैं।

 

गर्भावस्‍था में देखभाल

व्यायाम करें

गर्भवती होने के बाद यदि आप नियमित व्‍यायाम कर रही हैं तो इससे आप न केवल फिट रहेंगी बल्कि सामान्‍य प्रसव की संभावना भी बढ़ेगी। इसलिए नियमित व्‍यायाम अवश्‍य करें, ज्‍यादा थकाऊ व्‍यायाम की जगह हल्के फुल्के व्यायाम ही करें। सैर करें, यह आसान भी है। यदि आप गर्भावस्था से पहले से ही व्यायाम करती आ रही हैं, तो चिकित्सक और ट्रेनर से संपर्क के बाद ही व्या‍याम की शुरूवात करें। व्या‍याम करने से रक्त संचार सुचारु होता है, अंतिम चरण तक चलते-फिरने, उठने-बैठने में परेशानी नहीं होती, कब्ज़ की शिकायत दूर होती है और थकान भी कम होती है।


आपका खानपान

गर्भवती महिला को लगभग 300 अतिरिक्‍त कैलोरी की जरूरत होती है। इस दौरान आपको पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए, इसलिए अपने आहार में प्रोटीन, विटामिन, आयर, कैल्शियम आदि जरूर शामिल करें। यदि सुबह आपका जी मचलता है, तो पर्याप्त मात्रा में पानी पियें और थोड़ी-थोड़ी मात्रा में कई बार खायें और अच्छी नींद लें। सुबह उठने के साथ ही नाश्ता ज़रूर करें।

इन बातों पर रखें नज़र

  • सुबह अचानक बिस्तर से ना उठें।
  • आपकी त्वचा अत्यंत रूखी हो रही है, तो माश्चराइज़र का प्रयोग करें।
  • कई महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान शरीर में दर्द की शिकायत रहती है, ऐसा होने पर सोने से पहले शरीर की मालिश करें।
  • ज्‍यादा भार न उठायें, काम करने से बचें और आराम भरपूर करें।

 

 

Read More Articles On Pregnancy Care In Hindi

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES26 Votes 53062 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर