इन्‍ट्रायूटेराइन डिवाइस है गर्भनिरोध का सुरक्षित और असरकारी विकल्‍प

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 01, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस अ‍र्थात आईयूडी, छोटे 'टी' आकार का उपकरण। 
  • विश्व भर में सबसे लोकप्रिय गर्भनिरोधक है इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस। 
  • लम्‍बे समय तक लगाया जा सकता है इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस को।
  • इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस को किसी योग्‍य चिकित्‍सक से ही लगवाना चाहिए। 

 

 

अगर आप गर्भधारण नहीं करना चाहतीं और गर्भनिरोध के तरीको के बारे में सोच रही हैं, तो आपके लिए इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस गर्भनिरोध का अच्‍छा विकल्‍प है।

contraception intrauterain device

इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस का अर्थ है आईयूडी, अर्थात ऐसा उपकरण जो गर्भधारण को रोकने के लिए स्‍त्री के गर्भाशय में लगाया जाता है। यह एक छोटे 'टी' के आकार का उपकरण होता है, जो पुरूषों के वीर्य में उपस्थित शुक्राणुओं को गर्भाशय में जाने से रोकता है। इसे तांबे के तार के एक छल्ले में लपेटा गया होता है, इसीलिए इसे ‘क्वाइल’ भी कहते है।

 

माचिस की तीली के बराबर मोटाई वाले बेलनाकार वस्‍तु को गर्भाशय में डाला जाता है। इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस पांच वर्षो तक लगी रह सकती है। इसे किसी योग्‍य चिकित्‍सक से ही लगवाना चाहिए।

इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस से प्रोजेस्टन की लगातार थोड़ी-थोड़ी मात्रा निकलती रहती है। यह आपकी गर्भग्रीवा के चारों ओर म्यूकस को गाढ़ा कर देता है, जिससे शुक्राणु इसके पार नहीं जा सकते और यह आपके अंडाशय से डिंब का उत्पादन भी बंद कर सकता है। हार्मोनयुक्त आईयूडी मीरेना के नाम से जाने जाते हैं। इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस वह महिलाएं नहीं ले सकती है जिनके ट्यूब में पहले बच्चा ठहरा हो या जिनके यूट्रस में संक्रमण हो या यूट्रस का शेप असामान्य हो।


इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस को लेकर काफी आश्चर्य की बात यह है कि इस बात का अभी पता नहीं है कि यह किस तरह काम करता है। लेकिन यह काफी कारगर है। यह विश्व भर में लोकप्रिय गर्भनिरोधक है और अधिकतर महिलाएं इसे लगाना चाहती हैं। इसे लगाने के लिए आप असुरक्षित संभोग करने के बाद पांच दिन के अंदर आपातकालिक गर्भनिरोधक के रूप में भी लगवा सकती है।


इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस के फायदे

  • इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस लगवाने से कई साल तक गर्भ नहीं ठहरता।
  • रोज-रोज दवा खाने के झंझट से बचता है।
  • यह पांच या दस साल के लिए भी लग सकती है।

 

इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस साइड इफेक्ट

  • माहवारी के समय अधिक रक्त बहना।  
  • दर्द का अधिक होना।
  • शरीर का फूलना।
  • 'टी' का ऊपर की चढ़ना।

 

इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस के प्रकार

इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस लगाने से पहले अपनी जांच स्त्री रोग विशेषज्ञ से कराएं और उसकी सलाह अनुसार ही चलें। इस समय बाजार में कई प्रकार की कॉपर टी उपलब्ध हैं। जो अलग अलग समय के हिसाब से लगाई जाती है।

200 बी इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस 3 वर्षो के लिए लगाई जाती है। मल्‍टीलोड इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस 5 सालों के लिए लगाई जाती है। सिल्वर डिवाइस की अवधि 7 वर्षो के लिए होती है। जबकि कापर-7 नामक इंट्रायू‍टेरिन डिवाइस 7 वर्षो के लिए लगाई जाती है।

अनचाहे गर्भ से बचने के लिए महिलाओं के पास कई विकल्‍प मौजूद हैं। महिलाएं अपनी जरूरत और पसंद के हिसाब से उनमें से किसी भी विकल्‍प को चुन सकती हैं।

 

 

Read More Articles on Contraception in Hindi

Write a Review
Is it Helpful Article?YES11 Votes 43886 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर