कर्डियोमायोपैथी का निदान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 22, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

कार्डियोमोयोपैथी का निदान होने के बाद इसकी चिकित्‍सा में आसानी होती है। इसके लिए चिकित्‍सक आपकी मेडिकल हिस्‍ट्री की जांच कर सकता है।

आपके परिवार के सदस्यों में किसी को हृदय रोग हो या किसी की अचानक से मौत हुई हो और उसकी मौत का कारण न पता हो, इस प्रकार के सवाल चिकित्‍सक आपसे पूछ सकता है। डॉक्‍टर आपके दिल से संबंधित लक्षणों के बारे में आपसे अधिक जानकारी ले सकता है।  


आपका डॉक्टर आपके दिल की जांच करेगा, इसके लिए सीने का एक्‍स-रे किया जाता है इसे एलेक्ट्रिओकार्डयोग्राम (ईकेजी) कहते हैं। ब्‍लड की जांच भी की जाती है और एक एकोकार्डयोग्राम द्वारा किया जायेगा। इन टेस्‍ट से इस बीमारी का पता नही लगा तो अन्‍य टेस्‍ट भी किये जा सकते हैं। कार्डियक कैथीटेराइजेशन, रेडियोनूयकलाड अध्ययन या एंडओमीकार्डियल बायोप्सी, जिसमें हृदय की मांसपेशी का एक नमूना लिया जाता है और लैब में जांच की जाती है।



डॉक्‍टर से संपर्क करने का समय -
अगर आपको इस प्रकार के लक्षण दिखें तो चिकित्‍सक को संपर्क कर सकते हैं :

• मेहनत का काम करते समय या सामान्‍य अवस्‍था में सांस लेने में दिक्‍कत होना,
• रात को सोते वक्‍त या नीचे झुकने के दौरान सांस लेने में दिक्‍कत होना,
• सांस की कमी के कारण कभी-कभी बेहोशी छा जाना, आंखों के आगे अंधेरा छा जाना,
• पैरों में सूजन होना
• सीने में दर्द होना
 
कार्डियोमायोपैथी से चिकित्‍सा - कार्डियोमायोपैथी का उपचार इस प्रकार से से हो सकता है -
 
• चिकित्सा जो जीवन भर लेनी पड़ती है डाइलेटेड कार्डियोमायोपैथी में - एनगिओटेनसीन एंजाइम इन्हिबिटर्स (ऐस), एनगिओटेनसीन रिसेप्टर ब्लॉकर्स, बीटा ब्लॉकर्स, स्पिरिनोलक्टोन  
• ऐसी दवायें जो दिल की कार्यक्षमता (डाइलेटेड कार्डियोमायोपैथी में) को बढ़ायें - दीरेटिक ऐस इन्हिबिटर्स, एनगिओटेनसीन रिसेप्टर ब्लॉकर्स और दिजोक्सिन आदि शामिल हैं।   
• ड्रग्स जो कि में हृदय की मांसपेशी हाइपरट्रॉपिक कार्डियोमायोपैथी को आराम करने में मदद करते हैं - बीटा ब्लॉकर्स और वेराप्मिल आदि।
• एंटीरिदमक दवाओं के प्रयोग से हार्ट बीट को सामान्‍य करना।
• पेसमेकर का प्रयोग करके दिल की गति को सामान्‍य करना।

इसके अलावा हार्ट ट्रांसप्‍लांट भी दिल के मरीज के लिए जरूरी हो सकता है।

 

कार्डियोमोयोपैथी का पूर्वानुमान -
कार्डियोमायोपैथी के लक्षण जितनी जल्‍दी दिख जायें इसे ठीक होने में उतनी आसानी होती है। लेकिन अगर घर में किसी को यह बीमारी है तो बच्‍चों में इस बीमारी के होने की संभावना ज्‍यादा होती है।


बचाव -
इस बीमारी से बचने के लिए उन कारणों को रोका जाए जो इस बीमारी को बढ़ाते हैं। इसके लिए लाइफस्‍टाइल में परिवर्तन कीजिए, अपनी कोरोनरी धमनी जोखिम कारकों को जानिए और लाइफस्‍टाइल को सामान्‍य रखें। रक्त चाप को सामान्य रखने वाले आहार वाली सब्जियों और फलों को नियमित लें। मादक पेय पदार्थ कम पियें। अगर आपके परिवार में यह बीमारी किसी को है तो उसकी जांच से यह पता करें कि यह बीमारी क्‍यों हुई है।

 

 

Read More Articles on Cardiomyopathy in Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES1 Vote 11208 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर