एलजा़इमर बीमारी से चिकित्सा

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Apr 04, 2013
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

alzheimer disease se chikitsaएल्जाइमर रोग की चिकित्सा की कोई विशिष्ट तकनीक नहीं है। कुछ दवाएं इसे नियंत्रित कर गंभीर होने से रोक सकती हैं। एल्जाइमर पीड़ितों के मस्तिष्क में एसिटाइल कोलिन की मात्र कम पाई जाती है। इसलिए ऐसी दवाएं दी जाती हैं जिससे मस्तिष्क में एसिटाइल कोलिन का स्तर नियंत्रित रहे। जितनी जल्दी इस रोग के बारे में पता चलेगा, इसका उपचार उतना ही आसान होगा।

 

नई-नई चीजें सीखें

कई शोधों ने यह साबित किया है कि मस्तिष्क भी मांसपेशियों के समान ही कार्य करता है। जितना ज्यादा आप इसका इस्तेमाल करेंगे, उतना ही यह शक्तिशाली होगा। मानसिक व्यायाम नई मस्तिष्क कोशिकाओं के निर्माण में मदद कर मानसिक स्वास्थ्य को दुरुस्त रखते हैं। नई जटिल चीजें सीखें जैसे कोई नई भाषा, चुनौतीपूर्ण खेल जैसे शतरंज वगैरह खेलें। ब्रेन गेम जैसे सुडोकू, क्रॉस वर्ड बेहतरीन मानसिक व्यायाम हैं।

 

[इसे भी पढ़ें: एल्जाइमर बीमारी क्या है]

मानसिक गतिविधि पर ध्यान दें

नियमित रूप से पढ़ें-लिखें, दिमाग रहेगा दुरुस्तआप अपने दिमाग से जितना काम लेंगे, वह उतना ही दुरुस्त रहेगा। यह मान्यता हमारे यहां पहले से ही रही है, लेकिन हाल में ही अमेरिका के इलिनोएस प्रौद्योगिकी संस्थान में किए गए शोध में भी इस बात की पुष्टि हुई है। अनुसंधानकर्ताओं ने पाया कि पढ़ाई-लिखाई और शतरंज जैसे खेल को अपनी दिनचर्या में प्रमुखता से शामिल करने वाले लोगों का दिमाग उन लोगों की तुलना में ज्यादा दुरुस्त रहता है जो इन गतिविधियों से दूर रहते हैं।

 

इनसे बचें

  • वजन न बढ़ने दें।
  • धूम्रपान न करें।
  • शराब का सेवन न करें या कम करें।
  • ब्लड प्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित रखकर इसके खतरे से बच सकते हैं।
  • सिर को चोट लगने से बचाएं।

 

Read More Articles On Alzheimer In Hindi

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 11599 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर