एलजा़इमर बीमारी का निदान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Feb 26, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

alzheimer disease ka nidaanएलजाइमर रोग से ग्रस्त व्यक्ति प्रायः यह समझ नहीं पाता कि उसे कोई समस्या है। आमतौर पर परिवार के सदस्य और करीबी मित्र रोगी के स्मरण शक्ति के क्षय होने और परिवर्तित व्यवहार पर ध्यान देते हैं। इस तरह के लक्षणों वाले व्यक्ति को ये बताने के बजाय कि उसे कोई समस्या है, उसे किसी चिकित्सक के पास ले जाने का प्रबंध करना चाहिये और किसी परिवार के सदस्य या घनिष्ठ मित्र को उसके साथ जाना चाहिये।

[इसे भी पढ़ें: एलजाइमर रोग क्या है]

 

डॉक्टर, व्यक्ति द्वारा याद रखने में चूक होने, बोलने में परेशानी, नयी जानकारी को सीखने और याद रखने में मुश्किल, निर्देशों का पालन करने और जटिल कार्यों को संभालने में कठिनता, सही निर्णय न ले सकने वाली घटनाओं या अस्वभाविक या जोखिम भरे व्यवहार के बारे में जानना चाहेगा। इस तरह की जानकारी परिवार के सदस्यों और मित्रों द्वारा ही प्रदान की जा सकती है। डॉक्टर एक न्यूरोलोजिकल परीक्षण करेगा (मस्तिष्क और स्नायुतंत्र की जांच के लिए ), इसके साथ-साथ मानसिक स्थिति कि भी जांच कि जायेगी जिसमें दृष्टि, लेखन और स्मरणशक्ति कि जांच सम्ल्लित है। डॉक्टर अन्य रोगों की भी जांच करेगा जिनसे एलजा़इमर रोग से मिलते-जुलते लक्षण उत्पन्न होते हैं। जांच प्रक्रिया में रक्त की जांच शामिल है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि रक्त का संयोजन और विटामिन बी-१२ और थायराइड हार्मोन का स्तर सामान्य है।

 

[इसे भी पढ़ें: एल्जाइमर बीमारी की चिकित्सा]

कुछ स्थितियों में डॉक्टर ब्रेन इमेजिंग के लिए कह सकते हैं ताकि यह बात पक्की कि जा सके कि इन लक्षणों का कोई अन्य कारण नहीं है। कमप्युटेड टोमोग्राफी (CT) स्केन, मेग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग(MRI), और पोजिटरोन एमिशन टोमोग्राफी (PET) स्केन के नतीजे पूर्ण विश्वास से साथ एलजा़इमर का निदान नहीं कर सकते। यद्यपि एक रेडियोलोजिस्ट (डॉक्टर जो स्केन का अध्ययन करता है) यह बता सकता है कि तस्वीरें रोग के अनुरूप हैं। यदि ये इतने विशिष्ट नहीं हैं (10% से 20% स्थितियां) या फिर न्यूरोलोजिकल परीक्षण संवेदिक या गतिशीलता सम्बन्धी समस्या कि ओर संकेत करते हैं तो डॉक्टर आपको निदान की पुष्टि के लिए एक विशेषज्ञ जैसे न्यूरोलोजिस्ट (स्नायुविज्ञानी), जेरित्रिशियन या  जेरिएत्रिक के पास भेज सकता है।

 

Read More Articles On Alzheimer In Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES2 Votes 11547 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर