सिर्फ आराम और नींद में कमी ही नहीं माइलिन भी बनाता है उम्रदराज

By  ,  दैनिक जागरण
Sep 02, 2011
Comment

Subscribe for daily wellness inspiration

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • माइलिन में होने वाली कमी से इंसान अधेड़ावस्था में उम्रदराज दिखने लगता है।
  • माइलिन एक श्वेत पदार्थ होता है जो तंत्रिका कोशिकाओं को ढका रखता है।
  • एक उम्र के बाद जहां मानसिक क्रियाशीलता बढ़ जाती है, वहीं माइलिन बनने की दर घट जाती है।

उम्रदराज दिखने के कारण का पता चलावाशिंगटन, आईएएनएस : हमेशा युवा दिखने की चाहत किसे नहीं होगी भला। कई बार अधेड़ उम्र में भी लोग अधिक उम्र के दिखने लगते हैं। वैज्ञानिकों ने इसकी वजह का पता लगा लिया है। हाल ही में हुए एक शोध के मुताबिक माइलिन में होने वाली कमी से इंसान अधेड़ावस्था में उम्रदराज दिखने लगता है।

 

माइलिन एक ऐसा श्वेत पदार्थ होता है जो तंत्रिका कोशिकाओं को अपने आवरण से ढका रहता है। लास एंजिलिस यूनिवर्सिटी के प्रो. जार्ज बर्ट्जोकिस और उनकी टीम ने शोध में 23 से 80 साल के लोगों पर शामिल किया और उनके माइलिन के स्तर की जांच की। शोधकर्ताओं ने विभिन्न उम्र वर्ग के लोगों के बीच काम करने की गति व माइलिन के बनने की दर में अंतर पाया। गौरतलब है कि उम्र की मध्यावस्था के बाद जहां मानसिक क्रियाशीलता बढ़ जाती है वहीं मस्तिष्क में माइलिन बनने की दर घट जाती है।

 

शोधकर्ताओं के मुताबिक उम्र के इस दौर में व्यक्ति की कार्यक्षमता चरम पर होती है। लेकिन इसी समय माइलिन के बनने में कमी हो जाना एक तरह से यू-टर्न साबित हो सकता है। प्रो. बटर्जोकिस के अनुसार उम्रदराज दिखने के लिए 'माइलिन ब्रेकडाउन' महत्वपूर्ण कारण साबित होता है। उम्र बढ़ने के साथ यह प्रक्रिया जारी रहती है। 72 लोगों के किए गए एमआरआई (मैग्नेटिक रेजोनेंस इमेजिंग) में मस्तिष्क के फ्रंटल लोब में माइलिन का स्तर का कम पाया गया। इसके कारण उनकी अंगुलियां चलाने की गति (फिंगर टैपिंग स्पीड) 10 सेकेंड से ज्यादा पाई गई।

 

 

Write Comment Read ReviewDisclaimer Feedback
Is it Helpful Article?YES3 Votes 14915 Views 0 Comment
संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर