आधे घंटे में होगा स्तन कैंसर का इलाज

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Jan 15, 2013
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

-भारतीय वैज्ञानिक ने ईजाद की नई तकनीक


ब्रिटेन में भारतीय मूल के एक वैज्ञानिक डा. जयंत एस. वैद्य ने स्तन कैंसर के इलाज में एक बड़ी सफलता हासिल की है। उन्होंने इलाज के लिए छह हफ्ते तक चलने वाली रेडियोथेरेपी को महज आधा घंटे की 'सिंगल डोज' में परिवर्तित कर दिया है। जयंत मुख्य रूप से गोवा के रहने वाले हैं।


इस नई तकनीक में रेडियोथेरेपी उपकरण को पूरे स्तन में डालने की बजाय केवल कैंसर प्रभावित स्थान पर ही डाला जाता है। यूनिवर्सिटी कालेज लंदन में कार्यरत जयंत और उनके सहयोगियों ने इस तकनीक को 'टारगेटिड इंट्रा ओपरेटिव रेडियोथेरेपी' (टीआईआर) नाम दिया है।


-क्यों है बेहतर : वर्तमान तकनीक में पूरे स्तन पर रेडियोएक्टिव किरणें पड़ने की वजह से शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंग जैसे दिल, फेफड़ों के भी प्रभावित होने का खतरा रहता है। लेकिन इस तकनीक में एक निश्चित भाग को ही लक्ष्य बनाया जाता है। इससे शरीर के बाकी अंग पूरी तरह सुरक्षित रहते हैं।


डाक्टरों का मानना है कि स्तन कैंसर की सर्जरी में रेडियोथेरेपी की एक बार की खुराक ज्यादा प्रभावी है। उन्होंने बताया कि यह तकनीक महज आधा घंटे में स्तन के ट्यूमर को नष्ट कर देती है। टीआईआर तकनीक का दस सालों तक नौ देशों में करीब दो हजार महिलाओं पर परीक्षण किया गया। उन्होंने पाया कि यह तकनीक छह हफ्ते तक चलने वाली रेडियोथेरेपी के बराबर प्रभावी है। वैज्ञानिकों की टीम की सदस्य डा. सुसान लव ने बताया, 'इस तकनीक में न केवल समय की बचत होगी, बल्कि पुरानी तकनीक के विपरीत स्तन के ऊतकों को भी नष्ट होने से बचाया जा सकेगा।'

 

Write a Review
Is it Helpful Article?YES20 Votes 12300 Views 4 Comments
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • sagarika08 Feb 2013

    good articles...

  • reeta08 Feb 2013

    nice info but can you give us something more about cancer..

  • reetu08 Feb 2013

    nice information about cancer....

  • reeta04 May 2012

    nice info

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर